Thursday, September 24, 2020
Home सामान्य जानकारी योग दिवस के बारे में सारी जानकारी -International Yog Divas 2020

योग दिवस के बारे में सारी जानकारी -International Yog Divas 2020

International Yog Divas/योग दिवस 2020 रविवार 21 जून को है। अंतराष्ट्रीय योग दिवस / International Yog divas 2014 से 21 जून को ही मनाया जाता है। आपको हम इस आर्टिकल में इस अंतराष्ट्रीय दिवस से जुडी सभी ख़ास बातें बताएँगे।

Hindi Tutorials और Biography भी आप हमारी वेबसाइट में पढ़ सकतें हैं।

चलिए पढ़तें हैं Yog Divas के बारे में :

Yog Divas / योग दिवस

International Yoga Day यानी की yog divas हर साल 21 जून को मनाया जाता है।

यह एक अंतराष्ट्रीय दिवस है इसलिए यह सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुसरे देशो में भी मनाया जाता है।

इस दिन सभी इकठ्ठा होकर या अपने घर पर ही yog divas मानते हैं और योग करते हैं।

योग न सिर्फ शरीर बल्कि मानसिक बल भी प्रदान करता है। यह भारतीय संस्कृति की दुनिया को एक भेंट हैं।

कैसे हुई Yog Divas/योग दिवस की शुरुवात?

हमारे देश भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पहली बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाए इसका प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र में दिया था।

श्री नरेंद्र मोदी जी ने United Nations General Assembly(UNGC) – यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली में अपनी 27 सितम्बर 2014 की स्पीच में international yoga day मनाने का प्रस्ताव रखा था।

प्रधान मंत्री जी ने अपनी स्पीच में निम्न बोला :

Yoga is an invaluable gift of India’s ancient tradition.

It embodies unity of mind and body; thought and action; restraint and fulfillment; harmony between man and nature;

a holistic approach to health and well-being.

It is not about exercise but to discover the sense of oneness with yourself, the world and the nature.

By changing our lifestyle and creating consciousness, it can help in well being.

Let us work towards adopting an International Yoga Day.

By Narendra Modi at UNGC

आइये इसका हिंदी अनुवाद पढ़तें हैं :

योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है।

यह मन और शरीर की एकता का प्रतीक है; विचार और कार्रवाई; संयम और पूर्णता; मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य; स्वास्थ्य और कल्याण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण।

यह व्यायाम के बारे में नहीं है, बल्कि स्वयं, दुनिया और प्रकृति के साथ एकता की भावना की खोज करना है।

हमारी जीवन शैली को बदलकर और चेतना पैदा करके, यह भलाई में मदद कर सकता है।

आइए हम एक अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को अपनाने की दिशा में काम करें।

श्री नरेंद्र मोदी

इस प्रस्ताव के बाद UNGA ने 14 अक्टूबर 2014 को कमेटी बनाके इसपर विचार किया था।

भारतीय रिज़र्व बैंक ने सं 2015 में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस/yog divas को पहली बार चिह्नित करने के लिए 10 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया था।

योग दिवस 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है?

क्या आपने कभी विचार किया है कि इंटरनेशनल योग दिवस आखिर 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है? यह तारिख ऐसे ही नहीं बल्कि कुछ ख़ास वजह से चुनी गयी है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाए यह प्रधान मंत्री मोदी जी का ही प्रस्ताव था।

मोदी जी ने बताया की यह दिन यानी 21 जून उत्तरी गोलार्ध का साल का सबसे लम्बा दिन होता है।

इस दिन को ग्रीष्म संक्रांति के नाम से भी जाना जाता है।

दूसरा बड़ा कारण 21 जून तारिख चुनने का यह भी है कि इस दिन गुरु पूर्णिमा भी होती हैं और माना जाता है कि पहले योगी यानी की आदियोगी ने भी इसी दिन से योग का ज्ञान फैलाना शुरू किया था।

योग दिवस पर संयुक्त राष्ट्र की मंजूरी

मोदी जी की सम्बोधन जिसमे उन्होंने यह प्रस्ताव दिया कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय Yog divas मनाना चाइये उसके बाद ही संयुक्त राष्ट्र ने इसपर विचार करना शुरू कर दिया था।

मोदी जी के इस प्रस्ताव का कई देशो के नेताओ ने समर्थन दिया था।

आपको बता दें की इस पहल का समर्थन 177 से अधिक देशो ने समर्थन किया था जिसमे की अमेरिका , चीन , मिस्त्र , कनाडा आदि देश शामिल हैं।

इसी के साथ नेपाल ने भी इस प्रस्ताव का समर्थन दिया था।

संयुक्त राष्ट्र महासभा का यह पहला ऐसा संकल्प था जिसमे इतना समर्थन मिला था।

11 दिसंबर 2014 को 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वसम्मति से ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ को 21 जून को मनाये जाने की मंजूरी दे दी थी।

इस पर प्रधानमंत्री मोदी जी की समस्त नेताओं और योग से जुड़े लोगो ने सराहना की थी।

पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस – 21 जून 2015

2014 में संयुक्त राष्ट्र से मंजूरी मिलने के बाद सबसे पहला international yoga day / अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था।

इस दिन की बहुत तयारी हुई थी और बहुत अच्छे से ये भारत समेत कई देशो ने मनाया।

भारत में पहला yog divas मनाने की तैयारियां प्रधानमंत्री मोदी जी के साथ बाबा रामदेव जी ने भी की थी।

21 जून 2015 को भारत ने योग दिवस मनाके एक विश्व रिकॉर्ड भी दर्ज़ कर लिया था।

yog divas का मुख्य समारोह प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा दिल्ली के राजपथ में किया गया। इस समारोह में लगभग 36000 लोगो ने भाग लिया।

सभी मोदी जी के साथ योग करते नज़र आये थे।

इस समारोह का सीधा प्रदर्शन दूरदर्शन में भी किया गया था।

मोदी जी ने इस समारोह में 35 मिनट तक कुल 21 योग आसनो को किया था और साथ ही में मौजूद तमाम नेता और आम जनता ने भी मोदी जी का साथ दिया था।

यह समारोह भारत ही नहीं बल्कि तमाम देशो के लाखों नागरिकों ने मनाया था।

Yog divas में भारत के नाम दर्ज़ विश्व रिकॉर्ड

सबसे पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस / international yoga day पर भारत ने एक नहीं बल्कि दो गिनीज़ रिकॉर्ड प्राप्त किये।

पहला रिकॉर्ड यह बना की यह सबसे बड़ी योग कक्षा बनी 35985 लोगो के साथ।

दूसरा रिकॉर्ड यह था की चौरासी देशो ने एक ही समारोह में भाग लिया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के पांच साल पूरे 2020

इस साल Yog divas में यानी की 21 जून 2020 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस में पांच साल पूरे हो जायेगे।

International yoga day 2020 कैसे मनाया जाता है यह देखना होगा।

हर साल योग दिवस पर सभी इकठ्ठा होकर योग करते हैं मगर इस कोरोना संकट में यह मुश्किल लग रहा है।

यह भी हो सकता है की इस yog divas को वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के द्वारा किया जाए।

हमारी रीडर्स से यही आग्रह है की योग अपने घर ही में करें मगर जरूर करें।

योद दिवस से जुड़ें तथ्य और विवाद

योग दिवस को संयुक्त राष्ट्र में भी आसानी से मंजूरी मिल गयी थी और इसका समारोह भी सबने अच्छे से मनाया था। मगर इसके साथ भी विवाद जुड़ें हैं।

बात यह है की योग में एक आसन सूर्य नमस्कार भी होता है तथा योग में ॐ मंत्र के जाप भी किया जाता है।

मगर इन दोनों चीजों का विरोध कुछ मुसलमानो द्वारा किया गया।

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने सूर्य नमस्कार को धर्म के खिलाफ बताया।

इसके बाद सूर्य नमस्कार और ॐ जाप को समारोह में हटा दिया गया था।

योग दिवस तस्वीरों में

सारांश : yog divas 2020

Yog Divas इस बार भी अच्छे से मनाया जाएगा मगर कोरोना के कारन इसमें क्या बदलाव आते हैं यह कहना मुश्किल है।

हो सकता है की इस बार योग दिवस कॉन्फ़्रेंसिंग द्वारा किया जाए।

जो भी हो सरकार के आदेश का पालन हम सबको करना चाइये।

योग करें, स्वस्थ रहे !!!!

Stay Connected

194FansLike
0FollowersFollow
0FollowersFollow
2FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Must Read

Difference between Hardware and Software in Hindi [2020]

इस पोस्ट में हम difference between hardware and software in Hindi सीखेंगे। इसके साथ ही हम hardware और software के बारे में...

सॉफ्टवेयर क्या है- What is Software in Hindi Exclusive Guide[2020]

What is Software in Hindi की इस गाइड में हम आपको बताएँगे कि software क्या होता है? software कैसे बनाते हैं?...

Difference between LTE and VoLTE in Hindi – जानें कौन सा है बेहतर और Powerful [2020]

इस आर्टिकल में हम difference between lte and volte in hindi को समझेंगे। Mobile और Technology की दुनिया...

HTML Tutorial in Hindi with Examples [2020] Exclusive Guide

इस HTML tutorial in Hindi में हम HTML की सभी जानकारी सीखेंगे। HTML के इस tutorial में हम पढ़ेंगे...

Related News

Difference between Hardware and Software in Hindi [2020]

इस पोस्ट में हम difference between hardware and software in Hindi सीखेंगे। इसके साथ ही हम hardware और software के बारे में...

सॉफ्टवेयर क्या है- What is Software in Hindi Exclusive Guide[2020]

What is Software in Hindi की इस गाइड में हम आपको बताएँगे कि software क्या होता है? software कैसे बनाते हैं?...

Difference between LTE and VoLTE in Hindi – जानें कौन सा है बेहतर और Powerful [2020]

इस आर्टिकल में हम difference between lte and volte in hindi को समझेंगे। Mobile और Technology की दुनिया...

HTML Tutorial in Hindi with Examples [2020] Exclusive Guide

इस HTML tutorial in Hindi में हम HTML की सभी जानकारी सीखेंगे। HTML के इस tutorial में हम पढ़ेंगे...

15 मिनट के अंदर Jio SIM को ब्लॉक करें – How to Block Jio Sim Fast [2020]

How to Block Jio SIM की इस गाइड में हम आपको किसी Jio Sim को block अथवा बंद करने की प्रक्रिया की...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Your subscription could not be saved. Please try again.
Your subscription has been successful.

Theहिन्दीTV 

समाचार पत्रिका

 हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें और अपडेट रहें।

Stay connected