Blog Kaise Banaye / How to Start a Blog in Hindi [2020 Guide]

How to Start a Blog in Hindi [2020 Guide]

इस गाइड में हम आपको Blog kaise banaye / How to Start a Blog in Hindi की step by step जानकारी देंगे। अगर आप Blog को एक Business की तरह start करना चाहतें हैं, सिर्फ एक टाइम पास हॉबी के लिए नहीं, तो आप बिलकुल सही जगह आये हैं।

Blogging की दुनिया बढ़ती ही जा रही है इसलिए 2020 में Blogging शुरू करने के ख्याल से ही लोग डर जाते हैं।

लेकिन सही प्लानिंग और सही काम से आप 2020 में भी तीन महीने के अंदर एक नए Blog से पैसा कमाना शुरू कर सकते हैं।

Yes, you can earn money from Blogging within 3 months! Tweet करें

मैंने खुद दो नए Blogs (started in 2020) से तीन महीने में पैसा कमाना शुरू कर दिया। उसके अलावा मेरे 3 और Blogs हैं। मुझे सफलता और असफलता दोनों का ही अनुभव है। इसलिए मुझे अच्छे से पता है कि लोग क्यों fail होते हैं Blogging में।

दोस्तों , मेरा पहला Blog 2 साल काम करने के बाद भी fail हो गया था इसलिए मुझे फेलियर का अनुभव भी है और दुःख का अंदाज़ा भी। इसलिए जब मेरे एक के बाद एक कई ब्लॉग सफल हुए तो मैंने यह ब्लॉग दूसरो की मदद के लिए बनाया इसीलिए अगर आपको मेरी इस गाइड में कोई भी डाउट आता है तो मुझे Facebook group – Your Blogger Friend में लिखें।

हम आपकी Blogging की journey में हर संभव मदद करेंगे।

यह गाइड थोड़ी लम्बी है, क्यूंकि मैंने इसमें पूरी डिटेल्स बताई हैं जो एक नए Blogger को पता ही होनी चाइये।

बहुत सारे लोग Blog को Plan करने में समय नहीं लगाते और फिर साल भर अपने ब्लॉग में content डालते रहते हैं लेकिन Blog monetize नहीं हो पाता और 95% failed Bloggers की श्रेणी में ही आ जाते हैं।

इसलिए अगर Blog से तीन महीने के अंदर पैसा कमाना अगर आपका सपना है तो अभी एक कप कॉफ़ी , नोटबुक , पेन उठाइये और मेरा यह step by step प्लान फॉलो करिये।

If you want to learn How to start a Blog which actually makes money, this Guide is for you !! Tweet करें

Let’s start :

अनुक्रम

1. Choose Perfect Niche For Your Blog / ब्लॉग niche चुनें

भले ही आपका कोई भी कारण हो blogging करने का, Blog का niche चुनना बहुत ही जरूरी है।

आपके Blog का niche से सीधा मतलब है की आप किस विषय से सम्बंधित जानकारी अपने blog में दे रहे हैं।

मान लीजिये आप अपने ब्लॉग में वैलेंटाइन डे से सम्बंधित जानकारी देते हैं जैसे की – वैलेंटाइन गिफ्ट आइडियाज, वैलेंटाइन शायरी, वैलेंटाइन कवितायेँ इत्यादि तो आपका niche हुआ – वैलेंटाइन डे।

आपके ब्लॉग का niche कुछ भी हो सकता है जैसे की : हेल्थ एंड फिटनेस, लाइफस्टाइल, जनरल जानकारी, शायरी, गाने के लिरिक्स, ब्लॉगिंग, पैसे कमाने के तरीके आदि।

Blogging के niche की लिस्ट तो बहुत लम्बी है मगर आप कौन सा niche चुनते है यह फैसला करता है की आपको Blogging में कितनी सफलता मिलेगी और कितनी जल्दी मिलेगी।

आपका Blog पैसा कब देना शुरू करेगा यह बहुत जरूरी है क्यूंकि अगर आपका Blog सही से प्लान नहीं किया गया तो आपको सालो लग जायेंगे पैसा कमाने में।

मेरा अनुभव : मैंने खुद एक नए Blog से 3 महीने में पैसा कमाना शुरू कर दिया था तो यह नामुमकिन नहीं है।

मगर वहीं मेरा पहला ब्लॉग एक साल में भी बहुत ही पैसे दिला पाया था। इसलिए मुझे पता है क्या करना चाहिए और क्या नहीं क्यूंकि मुझे सफलता और फेलियर दोनों का ही अनुभव है।

अब बात आती है की Blog के लिए niche कैसे चुनें :

जब मैंने Blogging की नयी शुरुवात करी थी 2019 में, तो इस सवाल का जवाब ढूंढने के लिए मैंने कई Blog post और YouTube videos देखे। ज्यादातर bloggers ने यह ही बोला की हमे Blog का niche अपने passion यानी की जूनून के हिसाब से चुनना चाइये।

बात तो ये भी ठीक है कि अगर आप जिस चीज़ में काफी अच्छे हैं उसमे आप Blog लिखते हैं तो आप उत्तम post लिखेंगे तथा साथ ही में काम करने के लिए हमेशा motivated भी रहेंगे।

choose your niche for blog

लेकिन मेरा मानना इस मामले में कुछ अलग है, क्यूंकि अगर हम Blog पैसा कमाने के लिए शुरू कर रहे हैं तो इस हिसाब से हमें यह भी सोचना होगा की हमारा पैशन क्या हमें Blogging में success दिला पायेगा।

और इस मॉडल में पैसे का तो कहीं नाम ही नहीं है।

अब अगर आपका passion मान लीजिये कि “हेल्थ एंड फिटनेस” है लेकिन इससे आपके ब्लॉग में पैसा नहीं आ रहा मगर उसकी बजाय अगर आप “सामन्य जानकारी” पर लिखतें हैं और आपको बहुत पैसा आता है।

आखिर कौन सा चुनेगे आप? जिसमे पैसा आ रहा है वही ना!

जहाँ से पैसा आपके पास आता है वही आपका जूनून बन जाता है।

अगर ज़िन्दगी में कुछ पाना है तो तरीके बदलो, इरादे नहीं !!जो वजह आपको पैसा दिलाती है, वही आपका जूनून बन जाती है !! Tweet करें

सिर्फ इसी वजह से मेरा इस मॉडल पर विश्वास नहीं है क्यूंकि यह साल 2020 है competition ब्लॉगिंग में बढ़ता ही जा रहा है। इसलिए हर चीज़ की बारीकी से प्लानिंग बहुत जरूरी है।

मेरा खुद का Blogging में अनुभव यह है की अगर आपकी प्लानिंग सही है तो आप 3-4 महीने में पैसा कमा सकतें है। लेकिन जो लोग ऊपर वाला मॉडल इस्तेमाल करते हैं वह यह सोच के हार मान लेते हैं की Blogging से पैसे कमाने में सालों लगते हैं।

इसीलिए 95% Blog फेल हो जाते हैं।

Blogging Myth of start a blog

Updated मॉडल Blog Niche चुनने के लिए:

blog kaise banaye-your ideal niche

अपने Blog का niche चुनने के लिए आपको निम्न बातों का ख़ास ख्याल रखना है :

  1. आपका passion या skill क्या है?
  2. आपके ब्लॉग में पैसे का source क्या होगा?
  3. आपके blog में affiliate के अवसर कितने हैं?
  4. आपके niche में कितना competition है?
  5. आपके niche से सम्बंधित कम से कम दस ब्लॉग Post के ideas?

Download Your Free Gift Now!!

अगर आपने ऊपर दी हुई “Choose Your Perfect Niche Checklist” को डाउनलोड किया है तो उसमे नीचे दिए हुए points के आधार पर हर niche को score कीजिये। जिसका स्कोर ज्यादा है वह आपके लिए ज्यादा फायदेमंद niche होगा।

A) Keyword Research For Your Niche / कीवर्ड रिसर्च

अगर आप 2020 में Blogging शुरू कर रहे हैं तो मैं आपको बता दूँ की कम्पटीशन बहुत ज्यादा है मगर इसका मतलब ये नहीं की आप सफल नहीं होंगे। आप बिलकुल सफल होंगे अगर आप सही से प्लानिंग करेंगे।

अगर आपको कोई भी मदद चाइये तो मुझे फेसबुक ग्रुपYour Blogger Friend पर लिखें, हम जरूर मदद करेंगे।

अगर हम अपने ब्लॉग का niche सही से चुनते हैं तो हमारा काम काफी हद तक आसान हो जाता है।

दो बातें Blog के niche चुनने के लिए बहुत जरूरी हैं :

  1. आपका niche का कम्पटीशन कम होना चाइये।
  2. आपके niche में लोगों की दिलचस्पी होनी चाइये।

अब आप कैसे पता करेंगे कि कौन सा niche प्रॉफिटेबल है और जिसमे कम्पटीशन भी कम है :

Niche का Keyword Research करने के लिए, मार्किट में बहुत सारे tools हैं। बहुत सारे फ्री हैं तथा बहुत सारे paid भी हैं।

अगर आप Blogging में नए हैं और आपके पास पैसे भी कम हैं तो मेरे हिसाब से आपको फ्री टूल्स का इस्तेमाल करना चाइये मगर यदि आपके पास इन्वेस्ट करने के लिए पैसा हैं तो आप पेड टूल भी खरीद सकते हैं।

अगर फ्री टूल्स की बात करें तो आप इन टूल्स का इस्तेमाल कर सकते हैं :

फ्री कीवर्ड रिसर्च टूल :

free keyword research tools_Blog kaise banaye

आप ऊपर दिए हुए टूल्स में से कोई भी यूज़ कर सकतें हैं। ये तीनो बेस्ट टूल्स हैं फ्री कीवर्ड रिसर्च के लिए।

आप कीवर्ड रिसर्च के लिए पेड टूल्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जिनमे से सबसे बेस्ट है – Ahrefs का Keyword Explorer.

Ahrefs एक महंगा टूल है मगर इसमें आपको कीवर्ड की बहुत सारी डिटेल मिल जाती है। अगर आप Blogging में नए है और पैसो की भी अगर तंगी है तो आप फ्री कीवर्ड टूल इस्तेमाल करें।

कीवर्ड रिसर्च करने के लिए आपको इन टूल्स में आपके Niche का seed keyword डालना है जैसे की अगर आपका niche “वेट लॉस फॉर मेन” है तो आपके सीड कीवर्ड होंगे –

  • वेट लॉस
  • वेट लॉस रेसिपीज़
  • डंबल्स
  • gym
  • एक्सरसाइज इत्यादि।

अगर आपको कोई भी Blogging से रिलेटेड निजी मदद चाइये तो आप मेरे फेसबुक ग्रुप में जरूर बताएं। हम आपकी मदद करेंगे बिलकुल फ्री में।

अगर आपने हमारा Niche वाला चेकलिस्ट डाउनलोड किया है तो उसमे अब “Keyword Score” वाले कॉलम में हर niche के कीवर्ड के कम्पटीशन व वॉल्यूम के हिसाब से स्कोर दे दीजिये।

कम्पटीशनवॉल्यूमस्कोर
कमज्यादासबसे अच्छा
कमकमबहुत अच्छा
ज्यादाज्यादाअच्छा
ज्यादाकमठीक
कीवर्ड रिसर्च

ऊपर दी हुई लिस्ट के आधार पर आप अपने कीवर्ड्स / Niche को स्कोर कीजिये। जो अच्छा उसे ज्यादा स्कोर जो कम अच्छा उसे कम स्कोर।

चलिए अब आगे बढ़ते हैं अपने niche चुनने के दूसरे स्टेप में।

B) Skills / कौशल

पहले स्टेप में आपने ये तो जान लाया कि कौन से niche प्रॉफिटेबल है। अब ये जानना भी जरूरी है कि क्या वो niche आपके लिए कारगर साबित होगा।

आप चाहे जितना भी अच्छा niche चुन लें अगर आप कंटेंट अच्छा नहीं देंगे तो blog सफल नहीं होगा।

अब आपके पास उन niche की लिस्ट होगी जिनका प्रॉफिटेबल होना तय है। अब आपको निम्न बातों पर ध्यान देना हैं :

  • क्या इन niche के बारे में आपको थोड़ी बहुत जानकारी भी है?
  • क्या आपको किसी एक niche की बहुत ज्यादा जानकारी है?
  • क्या आपके skills किसी niche से मेल खातें हैं?
  • आपका अब तक का वर्क एक्सपीरियंस क्या है?
  • क्या आप इस Niche में दिलचस्पी दिखा कर लिख पाएंगे?

यह फैसला आप को लेना होगा की कौन से niche में आपको कितना कौशल हासिल है और आप कंटेंट लिख पाएंगे या नहीं।

उसी अनुसार मेरी दी हुई चेकलिस्ट में आप “Skill Score” कॉलम में स्कोर कर लीजिये। जिसमे ज्यादा कौशल हो उसको ज्यादा स्कोर दीजिये, जिसमे कम हो उसको कम स्कोर दीजिये।

अब मान लीजिये कोई ऐसा niche है जिसका आपको पहले से अनुभव है , आपने उसपर पहले भी काम किया है या उसमे आपको बहुत दिलचस्पी है तो वह आपके लिए अच्छा niche हुआ उसको चेकलिस्ट में अच्छा स्कोर दीजिये।

चलिए आखरी स्टेप में बढ़तें हैं, आखरी स्टेप को मिस मत कीजिएगा क्यूंकि वह बहुत ही इम्पोर्टेन्ट है :

C) Affiliate Income Opportunities / अफिलिएट इनकम

अफिलिएट का नाम तो blogging में भरपूर इस्तेमाल होता है। Affiliate income से तमाम लोग blogging से करोड़पति बनें हैं। आज कल affiliate marketing बहुत ही ट्रेंडिंग है, और यह ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाने का सही रास्ता है।

Affiliate मेरा सबसे पसंदीदा तरीका है जल्दी पैसा कमाने का। इसमें आपका अगर एक बार थोड़ा भी ट्रैफिक आने लगा तो आप बैठे बैठे पैसे कमाओगे।

यह आपके लिए बहुत ही जरूरी है यदि आपका टारगेट ब्लॉग्गिंग से जल्दी से और तेज़ी से पैसा कमाने का है।

आपके niche में एफिलिएट से पैसा कमाने के कितने रास्ते है, ये जानना जरूरी है।

सबसे जरूरी बातें :

1. अगर blogging से पैसे कमाने हैं तो Affiliate Income बहुत जरूरी है 2. अगर Affiliate Income चाइये, तो Blog search results में रैंक होना जरूरी है।3. अगर आपको अच्छा traffic चाइये, तो ऐसे कीवर्ड्स पर रैंक करना होगा जिनसे की बहुत सारा… Click To Tweet

Affiliate Marketing का सीधा मतलब ये है कि आप किसी दूसरे के प्रोडक्ट या सर्विसेज को अपने Blog/YouTube या किसी भी अन्य प्लेटफार्म पर रिकमेंड करते हो तो हर एक बिक्री पर आपको तगड़ा कमीशन मिलता है।

अब आपको ये ढूंढना है की जो अभी तक आपने niche की लिस्ट तैयार करी है उसमे हर niche में क्या क्या affiliate डाला जा सकता है।

अब बात आती है की कैसे ढूंढें अपने niche के लिए affiliate :

पहला तरीका

इसको हम एक उदाहरण लेके समझते हैं , मान लीजिये आपका ब्लॉग “Health and Fitness” है। आपको affiliate को mind में रखते हुए गूगल में सर्च करना है।

अगर इस niche के affiliates की बात करें तो mind में निम्न बातें आती हैं :

  1. Best Gym Equipment
  2. Top Health Products
  3. Best Health and Fitness Apps
  4. Best Exercise equipment to build abs etc.

सिंपल तरीका ये है की आपका जो भी niche हो उसमे आप “Best” एंड “Top” कीवर्ड लगा कर उसके सर्च रिजल्ट देखने हैं। अगर आपको ऐसी websites मिल रही है जो इसपर कंटेंट लिख रही हैं तो आप समझ लीजिये इसमें Affiliate Income के बहुत अवसर हैं।

Google result_start a blog in hindi

जैसे कि ऊपर वाली इमेज में देखिये, Google के पहले पेज पर rank होने वाली ज्यादातर websites Affiliate link प्रोवाइड कर रही हैं। आप इनसे कंटेंट का और Affiliate का आईडिया ले सकते हैं।

इसी प्रकार आप अपने Niche के Affiliate के opportunities को देखिये।

अगर आपको कोई दिक्कत हो तो निचे कमेंट बॉक्स में बताएं या हमारे फेसबुक ग्रुप पर लिखें। हम आपकी मदद करेंगे।

दूसरा तरीका

इसके अलावा आप ये सारी सर्च डायरेक्ट Amazon में भी चला सकते हैं इससे आपको पता चल जाएगा कि आपके Blog में क्या क्या प्रोडक्ट के अमेज़न के Affiliate लग सकते हैं।

Amazon का एफिलिएट नेटवर्क बहुत ही बड़ा है और आप चाहे और कितने भी affiliate प्रोग्राम न ज्वाइन कर ले Amazon का एफिलिएट तो आपको करना ही चाइये। यह बहुत लाभकारी रहता है।

Amazon Affiliates कमीशन रेट :

amazon commission rates affiliate_start a blog

इसी प्रकार आप अपने affiliates को ढूंढें और उन्हें हमारी वाली चेकलिस्ट में स्कोर दें। जिसमे ज्यादा Affiliate के अवसर हो उसमे ज्यादा स्कोर दीजिये।

Final Thoughts: Website Niche के लिए

Blog का niche चुनना बहुत ही जरूरी हैं इसलिए आप इसपर ख़ास फोकस कीजिये। यह पहला स्टेप है, यहाँ गलती होगी तो आपको आगे चलकर बहुत परेशानी होगी और शायद Blog भी बंद करना पड़ जाए।

अगर आपने हमारी “Choose Your Perfect Niche” चेकलिस्ट डाउनलोड की है तो अब आपके पास हर Niche के आगे Scores होंगे अब आपको देखना है कि कौन सा Niche ऐसा है जिसमे कि आपके तीनो ही पैरामीटर्स में अच्छे स्कोर हैं –

  • Skills
  • Affiliates
  • Keyword

मैंने इस टॉपिक पर एक बिलकुल फ्री Guide तैयार की है जिससे की आप आसानी से प्रॉफिटेबल Niche choose कर सकें और इस गाइड के साथ हम बिलकुल फ्री 150+ Profitable Niche Ideas भी दे रहें हैं। अगर आप यह Guide फ्री में चाहतें हैं तो हमें हमारे फेसबुक ग्रुप – Your Blogger Friend में contact करें।

2. Pick a Domain Name / ब्लॉग का डोमेन चुनें

Domain name की अगर बाते करें, तो इसमें हर किसी के अलग अलग विचार होते हैं।

बात अगर 5 साल पहले की Blogging की करें, तो Domain name आपका niche से मेल न भी खाता हो तो कोई बड़ी बात नहीं थी। लेकिन 2020 में अगर आपका Blog Name या domain name आपके Blog के niche से मिलता जुलता है तो आपको अतिरिक्त फायदे मिलते हैं।

मगर आपको यह सोचना होगा कि आपने जो niche डिसाइड किया है वह फाइनल है न, क्यूंकि ऐसा न हो कि आप Domain खरीदने के बाद अपना niche बदलें।

A) Domain name क्या होता है?

Domain name एक तरह से आपके ब्लॉग या वेबसाइट की एक यूनिक पहचान होती है। इससे कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट को कहीं से भी एक्सेस कर सकता है।

जैसे कि हमारी इस वेबसाइट का डोमेन है : TheHindiTV.com .

अब जब भी कोई user कहीं से भी internet पर यह एड्रेस डालता है – TheHindiTV.com तो वह हमारी वेबसाइट पर पहुंच जायेगा। डोमेन name किसी ब्लॉग या website के एड्रेस की तरह होता है।

तीन चीजें ख़ास होती हैं किसी भी domain के बारे में :

  1. domain का Price
  2. domain का नाम क्या दर्शाता है
  3. domain name का एक्सटेंशन – .com, .in etc.

B) Personal नाम का डोमेन – “आपका-नाम.कॉम”

कुछ लोग अपने नाम से ही डोमेन खरीद लेते हैं जैसे कि “Yourname.com”.

इसमें कोई बुराई नहीं है क्यूंकि इससे आप खुद ही एक ब्रांड बन जाते हो और काम करने के लिए मोटिवेटेड भी ज्यादा ही रहते हो।

मगर यह इस चीज़ पर भी निर्भर करता है की आपका niche आखिर क्या है?

अगर आप अपने Blog में डोमेन अपने नाम का ही लेते हो तो आपको इन बातों का ख़ास ख्याल रखना होगा :

  • ब्लॉग में आपको अपनी स्टोरी यानी की अपने बारे में जानकारी देनी होगी।
  • अगर आप अपने ब्लॉग में खुद के बनाये हुए कोर्स बेचते हो तो अपने नाम का domain आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होगा।
  • आपका नाम बहुत ज्यादा जटिल नहीं होना चाइये।
  • आपका नाम 15 अक्षरों से ज्यादा का नहीं होना चाइये।

C) Domain का Extension

Domain का extension बहुत जरूरी है। हर extension के हिसाब से domain का अलग अलग प्राइस होता है। सबसे ज्यादा चलने वाला डोमेन एक्सटेंशन – .com है।

Domain extension बहुत सारे available हैं जैसे कि – .com, .in, .guru, .news, .net, .us etc.

.in एक्सटेंशन India के लिए होता है। .us extension अमरीका के लिए होता है।

मेरे हिसाब से .com extension ही सबसे अच्छा है और यही खरीदना चाइये। यह डोमेन लोगो को आसानी से याद भी रह जाता है।

D) Domain का Price

आपको बता दें कि डोमेन खरीदने के लिए आपको एक बार स्टार्ट में पैसे देने पड़ते हैं फिर उसके बाद महीने में या साल में आपको कुछ पैसे देने पड़ते हैं।

हम आपको कोई झूठी दिलासा नहीं देना चाहते मगर अगर आप हमारे Blogging के Tutorial पढ़ते हैं और थोड़ी मेहनत करते हैं तो तीन महीने के अंदर आप पैसा कमाने लगेंगे। फिर भी अगर आपको कोई अतिरिक्त मदद चाइये तो फेसबुक ग्रुप – Your Blogger Friend में हमें जरूर लिखें।

आप domain नीचे दिए हुए links पर से खरीद सकतें हैं :

नहीं तो आप जब वेबसाइट के लिए होस्टिंग खरीदते हैं तो भी आपको एक डोमेन free मिल जाता है तो उसके लिए पहले नीचे वाले सेक्शन को पढ़ें :

3. Hosting Registration / होस्टिंग खरीदें

अब आपके पास आपकी वेबसाइट का एक डोमेन हो गया यानी की ब्लॉग का अड्रेस। अब उस वेबसाइट या ब्लॉग को आपको होस्ट करना होगा जिससे कि यूजर उसे एक्सेस कर पाएं।

वेबसाइट के लिए hosting बहुत जरूरी है क्यूंकि hosting से ही डिसाइड होगा आपका साइट का परफॉरमेंस एंड स्पीड।

पहले जानते हैं की वेब होस्टिंग क्या होती है :

A) Web Hosting क्या होती है?

जहाँ पर हम अपनी वेबसाइट की hosting खरीदते हैं वहीं हमारे Blog की सारी फाइल्स, images, पोस्ट इत्यादि सेव होती हैं।

जिस तरह से हम घर खरीदतें हैं तो हमें जमीन चाइये होती हैं जहाँ हमारा घर बनेगा, उसी तरह वेबसाइट बनाने के लिए हमें वेब होस्टिंग चाइये होती है।

मेरी सलाह ये है कि फ्री वेब होस्टिंग बिलकुल भी मत लीजियेगा। उससे आपका वेबसाइट या ब्लॉग पैनलाइज़ भी हो सकता है। फ्री वेब होस्टिंग में आपको अच्छा परफॉरमेंस नहीं मिलता। साइट कभी भी डाउन हो जाती है।

बहुत सारे होस्टिंग प्रोवाइडर्स मार्किट में हैं, सबकी अपनी खासियत तथा नुक्सान है। कुछ प्रमुख होस्टिंग प्रोवाइडर्स हैं –

  1. Bluehost
  2. Godaddy
  3. Hostinger
  4. SiteGround

ज्यादातर bloggers आपको Bluehost इस्तेमाल करने को बोलेंगे। पता है क्यों ? क्यूंकि BlueHost के एफिलिएट का कमीशन रेट बहुत ज्यादा है।

लेकिन हम 200% आपको सिर्फ SiteGround इस्तेमाल करने को कहेंगे क्यूंकि इसके बहुत सारे फायदे हैं।

B) SiteGround के फायदे

1. Speed and Performance / वेबसाइट की स्पीड और परफॉरमेंस

SiteGround में वेबसाइट होस्ट करने से आपको बहुत ही अच्छी स्पीड मिलती है जिससे आपकी वेबसाइट google में ऊपर rank करती है।

2. Free Domain / फ्री डोमेन

Siteground में hosting लेने से आपको एक डोमेन बिलकुल फ्री में मिल जाता है तो यह इसका एक और फायदा है।

3. Customer support / कस्टमर सपोर्ट

इस होस्टिंग प्रोवाइडर का कस्टमर सपोर्ट काफी अच्छा है यह मेरा खुद का अनुभव है। ये लोग बहुत जल्दी व् सटीक उपाय बताते हैं किसी भी टेक्निकल समस्या का।

4. Security / सुरक्षा

यह एक secured hosting हैं इसमें आपकी वेबसाइट का डाटा सुरक्षित रहता है।

C) Hosting Registration कैसे करें?

इस सेक्शन में हम आपको बताएँगे कि SiteGround में web hosting कैसे खरीदें Step by Step screenshots के साथ।

आप इन स्टेप्स को फॉलो करिये और अपनी Blogging का सफर शुरू कीजिये। अगर कोई मदद चाहिए तो हमे फेसबुक ग्रुप Your Blogger Friend में जरूर लिखें।

Step #1 : SiteGround की Website पर जाएँ

सबसे पहले SiteGround की वेबसाइट पर जाएँ। इसपर जाकर आप ‘WordPress Hosting’ वाले block का ‘Get Started’ बटन दबाइये।

hosting steps_blog kaise banaye

हमने आप से WordPress hosting पर इसलिए क्लिक करवाया है क्यूंकि वह WordPress के लिए बहुत अच्छे से कस्टमाइज्ड होता है तो काम करने में काफी आसानी होती है। WordPress नंबर 1 Website builder है।

Step #2 : अपना Hosting प्लान चुनें

आपकी नयी वेबसाइट है तो आप ‘Startup’ या ‘GrowBig’ दोनों में से कोई भी प्लान ले सकतें हैं।

लेकिन हम हमेशा अपनी websites में GrowBig प्लान ही लेते हैं इसका कारण यह है की GrowBig प्लान में आपको unlimited websites मिल जाती हैं यानी कि पैसे आपको एक ही website के देने हैं मगर आप जितनी चाहें उतनी वेबसाइट इसमें होस्ट कर सकते हैं बिना किसी अतिरिक्त fees के।

अगर Blogging को आप अपनी fulltime जॉब बनाना चाहतें हैं तो वैसे भी आप आगे और वेबसाइट बनाएंगे ही तब आपको ये वाली होस्टिंग ही काम आ जाएगी।

choose your hosting plan_start a blog in hindi

Step #3 : Hosting में अपना Domain डालें

चूंकि हम अपना डोमेन पहले ही खरीद चुकें है इसलिए हमें “I already have a Domain” पर क्लिक करना है।

उसमे अपना डोमेन नाम एंटर करें।

start a blog steps _blog kaise banaye

Step #4 : Details भरें

अपनी सारी डिटेल्स जैसे कि ईमेल id , पासवर्ड, पता, मोबाइल नंबर इत्यादि फॉर्म में भर दें। उसके बाद आप पेमेंट ऑप्शन सेलेक्ट करके पेमेंट कर दें।

further hosting steps_start a blog in hindi

अब आपका होस्टिंग अकाउंट बन चुका है। अब हम आपको बातएंगे कि कैसे WordPress setup करना है, theme कैसे डालनी है, website के Sitemap के बारे में भी बताएँगे।

4. WordPress Website Setup करें

The Complete WordPress Tutorial in Hindi.

अब आपको अपनी website होस्टिंग में सेटअप करना है। उसके लिए पहला स्टेप है “Add New Site” पर क्लिक करना।

setup wordpress_start a blog

अब आपको अपना domain add करना है।

setup your website_start a blog

आपको जैसा ऊपर वाली इमेज में दिख रहा है, आपको ‘Existing Domain’ में क्लिक करना है उसके बाद आपको नीचे वाली tab ओपेन हो जायेगी।

setup your website wordpress_start a blog in hindi

आपको अपना domain ऊपर वाली फील्ड में डालना है उसके बाद ‘Continue’ वाले बटन पर क्लिक करना है।

उसके बाद आपको आगे वाले स्टेप्स में बस next करते जाना है और आपकी बेसिक वेबसाइट SiteGround में सेटअप हो जायेगी।

क्यूंकि हमने पहले ही WordPress Hosting ली है तो WordPress आपको पहले से इन्सटाल्ड मिलेगा। अगर नहीं , तो आप उसे install कर सकते हैं बहुत आसानी से।

अभी तक के किसी भी स्टेप में आपको कोई दिक्कत आयी हो तो तुरंत Your Blogger Friend में लिखें, हम 15 मिनट के अंदर-अंदर आपको सहायता करेंगे।

A) WordPress का Dashboard Login

अब हम अपने WordPress dashboard में login करते हैं –

wordpress siteground_start a blog

ऊपर वाले इमेज की तरह ‘Websites’ पर क्लिक करें। आपको नीचे आपकी वेबसाइट दिख जायेगी।

wordpress access_start a blog

आपको ‘WordPress Kit’ बटन पर क्लिक करना है। उसके बाद आपको नीचे वाली विंडो ओपन हो जायेगी।

wordpress dashboard login

जब आप ‘WordPress Admin’ के ब्लॉक वाले ‘Go’ बटन पर क्लिक करेंगे तो आपको नीचे वाली स्क्रीन दिखेगी।

start a blog wordpress steps

इसमें आपको अपना WordPress वाला ईमेल आईडी और पासवर्ड डालना है, उसके बाद आपको WordPress Dashboard खुल जाएगा।

अब आपका WordPress website सेटअप हो गया है चलिए आगे बढ़ते हैं।

5. Website Design करें / Theme डालें

WordPress की वेबसाइट में डिजाइनिंग करना बहुत ही आसान है। आपको अपने Blog में अब WordPress theme डालनी होगी। WordPress में बहुत सारी फ्री और पेड themes हैं, जिन्हे आप आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं।

A) WordPress Theme क्या होती है?

WordPress theme एक आसान solution है किसी WordPress की वेबसाइट को डिज़ाइन करने का। अगर हम किसी वेबसाइट को शुरुवात से डिज़ाइन करते हैं बिना किसी theme का यूज़ किये तो बहुत ज्यादा मेहनत और समय लगेगा।

WordPress theme टेम्प्लेट, फ़ाइलों और स्टाइलशीट का एक संग्रह है जो आपके वर्डप्रेस वेबसाइट की रूप और डिजाइन को निर्धारित करता है।

अप्पकी website में पहले से ही WordPress की कोई default theme एक्टीवेट होगी। आपको उस theme को बदलना होगा क्यूंकि default theme में ज्यादा फीचर नहीं होते हैं।

B) Theme कैसे Install करें?

आपको नयी theme install करने के लिए पहले WordPress Dashboard में login करना है।

login  wordpress

उसके बाद आपको WordPress Dashboard ओपन हो जाएगा। जहाँ पर आपको साइडबार के “Appearance” ऑप्शन पर क्लिक करना है।

wordpress-dashboard-start a blog

उसके बाद आपको ‘Themes’ पर क्लिक करना है।

start a blog-theme option

अब चूंकि हमें नई theme डालनी है इसलिए हम “Add New” बटन पर क्लिक करेंगे। यह बटन आपको स्क्रीन में सबसे ऊपर मिलेगा।

start a blog-add new theme

उसके बाद नीचे वाली स्क्रीन खुल जाती है। उसमे अब कई सारी themes आपको दिखाई देंगी।

start a blog-add new theme dashboard

ऊपर वाली स्क्रीन में आपको बहुत सारी themes दिखेंगी। जिनमे से आप कोई भी theme आपके WordPress वेबसाइट में डाल सकते हो।

अगर आपको कोई theme का नाम पता है तो आप “Search Themes” वाले फील्ड में उसका नाम एंटर करके सर्च कर सकते हैं। और उसे install कर सकते हैं। साथ ही अगर आपके पास कोई theme कंप्यूटर में पहले से ही डाउनलोड है तो आप उसे “Upload Theme” ऑप्शन से आपकी वेबसाइट में साल सकते हैं।

आपको जो theme पसंद आये आप उस theme को क्लिक करके install कर लीजिये, जैसा नीचे वाली screenshot में दिखाया है –

start a blog-theme activation

अब आप अपनी theme को एक्टीवेट कर लीजिये और बस आपकी वेबसाइट की डिजाइनिंग पूरी।

आपकी WordPress theme एक बार एक्टीवेट हो गयी तो फिर आप “Appearance” मेनू का इस्तेमाल करके उसमे अपने हिसाब से चेंज ला सकते हैं।

Appearance editor में आप क्या चेंज कर सकते हैं :

  • Site identity : इस मेन्यू के अंतर्गत आप आपका वेबसाइट का नाम, वेबसाइट का logo आदि बदल सकते हैं।
  • Colors : लिखाई का रंग , font आदि।
  • Menus : इसमें आप menu से सम्बंधित बदलाव ला सकते हैं।
  • Additional CSS : इसमें आप अगर अतिरिक्त CSS डालना चाहे तो डाल सकते हैं।

6. Website में Plugins डालें

अब आपको अपनी वेबसाइट में जरूरी WordPress plugins डालने हैं।

ध्यान दें : वेबसाइट में जो plugin जरूरी हो वो ही डालने चाइये और जो plugin आप इस्तेमाल न कर रहे हों उसे डिलीट कर दें क्यूंकि बहुत सारे plugin आपकी वेबसाइट की परफॉरमेंस ख़राब कर देते हैं।

यहाँ हम आपको वो plugin बताएँगे जो आपके Blog के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और आपको आपके Blog में अवश्य ही डालने चाइये।

A) WordPress Plugin क्या होता है?

WordPress Plugin एक सॉफ्टवेयर की ही तरह होता है जिसमें कई सारे फंक्शन्स का एक समूह होता है जिसको आप वर्डप्रेस वेबसाइट में जोड़ सकते हैं । इससे आप अपनी वर्डप्रेस वेबसाइटों में नई सुविधाएँ जोड़ सकते हैं।

WordPress plugins PHP प्रोग्रामिंग भाषा में लिखे गए हैं।

हमें वर्डप्रेस के प्लगिन्स इस्तेमाल करने के लिए किसी coding की सहायता नहीं पड़ती। इसे आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

B) Most Important WordPress Plugins for 2020

कुछ plugins आपको Blogging की शुरुवात से ही आवश्यक पड़ेंगे। उन plugins को आप झटपट ही अपने blog में install कर लीजिये। साथ ही हम उन plugins का use भी आपको समझाते हैं।

1. Rank Math SEO Plugin

Rank Math SEO के किये बेस्ट plugin है। आपने Yoast SEO का तो बहुत नाम सुना होगा मगर आपको बता दें Rank Math plugin का फ्री version Yoast SEO के premium version के बराबर है।

Rank Math Free = Yoast SEO Premium Tweet करें

Yoast SEO के दो versions आते हैं एक है free और एक है premium यानी की paid.

Yoast SEO के premium वर्ज़न में आपको जितने फीचर मिलते हैं वो Rank Math के free में मिल जाते हैं।

Rank Math SEO के feature :

  • Multiple Focus keyword (आप एक नहीं बल्कि पांच कीवर्ड को एक आर्टिकल में टारगेट कर सकते हैं)
  • Scoring (इसमें आपके SEO का स्कोर दिखता हैं उसके साथ क्या क्या कमी है वो भी दिखता है तो आप अपने पोस्ट का SEO आसानी से बढ़ा सकते हैं )
  • Google से integration (इसे आप google से जोड़ सकते हैं जिससे की आप कीवर्ड डाटा, सर्च डाटा आदि देख सकते हैं)
  • Simple यूजर इंटरफ़ेस

2. Easy Table Of Contents Plugin

Easy Table of Contents आपका एक अनुक्रम दिखाने वाला plugin है। जैसा की मेरे इस website में लगा हुआ है।

इसमें आपकी पूरे आर्टिकल की हेडिंग्स(H1,H2,H3,H4,H5..)दिखाई देती है जिससे यूजर किसी भी हेडिंग को क्लिक करके उसमे डायरेक्ट पहुँच सकता है।

यह एक सूची तालिका होती है।

इससे आपकी वेबसाइट में अच्छा लुक तो आता ही है साथ ही user आपकी वेबसाइट से कनेक्टेड भी रहता है।

3. WP Super Cache

WP Super Cache plugin आपके website का स्पीड बढ़ा के उसकी परफॉरमेंस अच्छी करता है।

Google में ऊपर rank करने के लिए परफॉरमेंस का बहुत महत्व है। इसलिए आपकी वेबसाइट की परफॉरमेंस और स्पीड अच्छी होनी चाइये। वरना google में आप रैंक नहीं कर पाएंगे।

यह प्लगइन cache क्रिएट करता है और आपकी वेबसाइट की परफॉरमेंस को बहुत इम्प्रूव करता हैं।

आप अपनी वेबसाइट की performance एंड speed को इस वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं – GTmetrix.

7. Website को Google में Rank कैसे करें?

अब आपका 90% काम हो गया है ब्लॉग सेटअप होने का। अब बात आती है Blog को Google में rank करने की।

ब्लॉग अगर आप रैंक ही नहीं करोगे गूगल पर तो इतनी मेहनत का क्या फायदा। इसलिए अब जल्दी से नीचे के स्टेप्स पढ़कर फॉलो कर लीजिये।

Google के प्रमुख दो टूल्स में आपको रजिस्टर करना होगा आपके ब्लॉग को :

  1. Google Search Console [Ranking के लिए]
  2. Google Analytics [Tracking के लिए]

A) Google Search Console Setup करें

Google Search Console एक Google का टूल है जिससे आप अपने Blog को Google पर रैंक कर सकते हैं। Google Search Console और Google Webmaster tool में कंफ्यूज मत हो जाइएगा।

Google Search Console(GSC) को पहले Google Webmaster tools के नाम से जाना जाता था। यह दोनों एक ही हैं।

चलिए शुरू करते हैं आपके ब्लॉग को गूगल पर रैंक करने के स्टेप्स :

सबसे पहले आपको एक Gmail account की जरूरत पड़ेगी। आप आपकी पर्सनल gmail ID भी इस्तेमाल कर सकते हैं, मगर अगर आप आपके Blog के लिए अलग से Gmail Id बना लें तो ज्यादा बेहतर है।

a) Gmail Account बनाएं। 
b) Google Search Console/Google Webmaster tools ओपन करें। 
start a blog-google search console
c) Gmail ID से लॉगिन करें। 

अब आपको Google Search console में आपके Gmail account से Login करना है। आप यहाँ पर आपके Blog का Gmail address इस्तेमाल करिये।

start a blog-google console login
d) Add Property in Google Console

अब आपने Google Search Console में Login कर लिया है। अब आपको google को आपकी वेबसाइट के बारे में बताना है।

इसे Property Add करना कहते हैं। जैसा नीचे इमेज में दिया है, आपको आपका डोमेन नाम add करना हैं।

ध्यान दें : मान लीजिये आपका ब्लॉग – www.abcd.com है तो आपको सिर्फ abcd.com ही एंटर करना है।

Add property

इसके बाद Continue का बटन दबाइये।

e) Verify the property

अब आपको verify करना है जो आपने डोमेन एंटर किया है वो आपका ही डोमेन है। आपको domain verification करना होगा google search console में।

जब आप डोमेन एंटर करके continue करेंगे तो आपको नीचे वाली स्क्रीन ओपन हो जायेगी।

start a blog-google console verify

आपको जो ऊपर वाली स्क्रीन में Google का verification कोड आएगा उसे कॉपी करना है और आपके Hosting provider के DNS में जाके Add करना होगा।

अगर आपने SiteGround की होस्टिंग ली है तो निचे वाले स्टेप फॉलो कीजिये।

Domain Configuration to verify Google Search Console

add DNS to verify GSC-step 1
add DNS to verify GSC-step 2
add DNS to verify GSC-step 3
add DNS to verify GSC-step 4
add DNS to verify GSC-step 5

6वें स्टेप में आपको Google Search Console से कॉपी किया हुआ verification code डालना है।

बस आखिर में आपको Google Search Console का Verify बटन दबा देना है। आपका Google Search Console सेटअप हो गया है।

B) Sitemap क्या होता है? Sitemap कैसे submit करें?

Sitemap एक फाइल होती है। इस फाइल में हम अपने वेबसाइट की information प्रोवाइड करते हैं जिनकी मदद से Search Engines जैसे के Google etc हमारे वेबसाइट के pages को crawl करते हैं।

Sitemap की file के अंदर हमारे वेबसाइट के pages, posts, categories etc. की list होती है।

जब भी आप कोई SEO Plugin अपने वेबसाइट में डालते हैं तो वो Plugin आपकी वेबसाइट का Sitemap बना देता है।

Sitemap कुछ इस तरह का दिखता है :

start-a-blog-sitemap

आप अपने वेबसाइट का Sitemap देखने के लिए इस तरह से URL डालें : www.yourdomain.com/sitemap_index.xml

Google Search Console में Sitemap Submit करें

अब नीचे वाले ऑप्शन में जाके आपको आपका Sitemap submit करना है। URL : www.yourdomain.com/sitemap_index.xml

start-a-blog-submit-sitemap

चूंकि आपकी वेबसाइट नयी है इसलिए इन सब स्टेप्स के तीन दिन बाद आपकी वेबसाइट Google पर रैंक होना स्टार्ट हो जायेगी।

8. Google Analytics setup करें

Google Analytics का tool आपको Blogging में हमेशा ही यूज़ होगा। यह एक Google का टूल है।

Google Analytics बिलकुल फ्री टूल है।

इस tool का उपयोग वेबसाइट को ट्रैक करने में किया जाता है। इसमें आपके वेबसाइट में कितने यूजर आये , किस लोकेशन से आये आदि बहुत सारी जानकारी मिलती है।

Google Analytics Features :

  • ट्रैफिक रिपोर्टिंग
  • कीवर्ड रेफरल्स
  • थर्ड पार्टी रेफरल्स
  • ऑडियंस की जानकारी
  • डेट के हिसाब से जानकारी

A) Setup Google Analytics for your website

1. Google Analytics ओपन करें।

2. Google Account से Login करें।

3. Google Analytics Tool ओपन हो जाएगा।

start-a-blog-google-analytics

4. Start Measuring पर क्लिक कीजिये।

5. Account का name एंटर करें।

start-a-blog-google-analytics-steps

उसके बाद Next पर क्लिक कीजिये।

6. ‘Web’ सेलेक्ट करके next पर क्लिक कीजिये।

start-a-blog-google-analytics-steps1

7. Website का नाम और URL डालें

start-a-blog-google-analytics-steps2

8. इसके बाद Global Site Tag (gtag.js) में लिखे कोड को कॉपी करें।

9. आपके वेबसाइट के header.php में जाके <head> टैग के अंदर उस कोड को पेस्ट कर दीजिये।

10. आपका अकाउंट सेटअप हो गया है।

9. INFOGRAPHIC : Blog Kaise Banaye

Infographic_Blog kaise banaye

10. Final Summary : How to Start a Blog in Hindi

जैसा कि आप देख सकते हैं blog kaise banaye यह process बहुत ही आसान है।

Blog को सिर्फ एक Hobby की तरह नहीं बल्कि एक Business की तरह शुरू करें। इस mindset के साथ आप तीन महीने के अंदर ही आपके Blog को monetize कर सकते हैं।

आपको हमारी यह “How to Start a Blog in Hindi” Guide कैसी लगी, हमें जरूर बताएं।

Don't Wait, Go Start Your Blog Now. You deserve it !! Click To Tweet

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here