Saturday, July 4, 2020
Home Biography डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी का Powerful जीवन -APJ Abdul...

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी का Powerful जीवन -APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi में हम आपको अब्दुल कलाम जी के जीवन को शुरू से अंत तक बताएंगे।

डॉ अब्दुल कलाम जी को मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से भी जाना जाता है। वह एक श्रेष्ठ वैज्ञानिक होने के साथ ही हमारे देश के पूर्व राष्ट्रपति भी रह चुकें।

इनके जीवन की हर एक घटना युवाओं को बहुत प्रेरणा देती है। कलाम जी बहुत ही अच्छे व्यक्तित्व के इंसान थे।

इनकी इस Abdul Kalam Biography में हम आपसे इनके द्वारा दिए गए कई विचारों को भी साझा करेंगे।

आप हमारी वेबसाइट में Hindi tutorials भी पढ़ सकतें हैं।

चलिए शुरू करते हैं APJ Abdul Kalam Biography in Hindi:

पूरा नाम : 

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलअब्दीन अब्दुल कलाम मसऊदी था।

जन्म तिथि :

अब्दुल कलाम जी का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था।

जन्म स्थान :

डॉ कलाम का जन्म तमिलनाडु के धनुषकोडि गाँव में हुआ था।

मृत्यु तिथि :

एपीजे अब्दुल कलाम जी 83 साल की उम्र में हम सबको छोड़कर चले गए। उनकी मृत्यु 27 जुलाई 2015 को हुई थी।

मृत्यु स्थान :

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी की मृत्यु 27 जुलाई 2015 की शाम को शिलॉन्ग , मेघालय में दिल का दौरा पड़ने से हो गयी थी।

पिता जी का नाम :

डॉ कलाम जी के पिता जी का नाम जैनुलाब्दीन था।

माता जी का नाम :

डॉ कलाम जी की माता जी का नाम आशिमा था।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का प्रारम्भिक जीवन

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था। वह धनुषकोडि नामक एक गाँव में एक मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे थे।

इनके पिता जी कम पैसे वाले थे इसलिए इनका बचपन कठिन परिस्थितियों में बीता था।

डॉ कलाम जी पाँच भाई और पांच बहन थे वह सब एक संयुक्त परिवार में रहते थे।

कलाम जी के पिता जी भले ही गरीब थे मगर उन्होंने डॉ अब्दुल कलाम को बचपन से ही बहुत अच्छे संस्कार दिए और उन्हें हर काम को लगन से करना सिखाया।

वह रामेश्वरम के निवासी थे और उनका पांच वर्ष की आयु में वहीं की पंचायत के प्राथमिक विद्यालय में दीक्षा संस्कार हुआ था।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम के अध्यापक जिनका नाम इयादुराई सोलोमन ने उन्हें बहुत अच्छी बातें सिखायीं थी। उन्होंने एक बार उनसे यह बोला :

जीवन मे सफलता तथा अनुकूल परिणाम प्राप्त करने के लिए तीव्र इच्छा, आस्था, अपेक्षा इन तीन शक्तियो को भलीभाँति समझ लेना और उन पर प्रभुत्व स्थापित करना चाहिए। 

जीवन मे सफलता तथा अनुकूल परिणाम प्राप्त करने के लिए तीव्र इच्छा, आस्था, अपेक्षा इन तीन शक्तियो को भलीभाँति समझ लेना और उन पर प्रभुत्व स्थापित करना चाहिए।  Tweet करें

जीवन की एक घटना ने डॉ कलाम जी के मन में वैज्ञानिक बनने का मजबूत निश्चय बिठा दिया था।

जब डॉ कलाम जी पांचवी कक्षा में पढ़ते थे तब जीवन की एक घटना ने उनके मन में विमान वैज्ञानिक बनने का सपना बुन दिया था।

एक बार कक्षा में कलाम जी के अध्यापक विद्यार्थियों को पक्षी के उड़ने की जानकारी दे रहे थे जिससे बच्चे अच्छे से समझ नहीं पा रहे थे।

इसपर अध्यापक बच्चों को समुद्र तट पर ले जाते हैं और फिर अच्छे से समझाते हैं।

उस समुद्र तट पर डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी ने उड़ते पक्षियों को देखकर मन में यह निश्चय कर लिया था कि वह एक विमान वैज्ञानिक बनेंगे।

अब्दुल कलाम जी गरीब घर के होने के कारन अपनी शुरुवाती शिक्षा के लिए अख़बारों को वितरित करने का काम भी करते थे।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम की शैक्षिणता विश्लेषण

डॉ अब्दुल कलाम जी की शिक्षा जानकारी :

  • डॉ अब्दुल कलाम जी ने अपनी शुरुवाती शिक्षा रामेश्वरम की पंचायत के प्राथमिक विद्यालय में ही ली।
  • कलाम जी ने सं 1950 में अंतरिक्ष विज्ञान में ग्रेजुएट यानी की स्नातक की उपाधि प्राप्त की थी। उन्होंने यह शिक्षा मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (Madras Institute of Technology) से ली थी।
  • ग्रेजुएशन के पश्चात उन्होने भारतीय रक्षा अनुसन्धान एवं विकास संस्थान (DRDO) में भर्ती ली।
  • DRDO में उन्होंने हावरक्राफ्ट(Hovercraft) परियोजना पर कार्य किया।
  • उसके पश्चात उन्होंने भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संगठन यानी की ISRO में सन 1962 में प्रवेश लिया।
  • इसरो में उन्होंने कई उपग्रह परियोजनाओं में कार्य किया।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम की वैज्ञानिक सफलताओ की व्याख्या

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी को विज्ञान छेत्र में बहुत सारी उपलब्धियां हासिल हैं जिनमे से मुख्य निम्न हैं :

मिसाइल मैन डॉ कलाम जी 1962 इसरो(ISRO)यानी की भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संगठन से जुड़े थे।

डॉ अब्दुल कलाम जी इसरो में प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में काम करते थे।

Dr APJ Abdul Kalam Biography in Hindi में अब उन मुख्य प्रोजेक्ट्स को देखते है जो कलाम जी ने सफल किये :

स्वदेशी उपग्रह मिसाइल – एस. एल. वी. तृतीय

भारत का सबसे पहला स्वदेशी उपग्रह मिसाइल, जिसका नाम एस. एल. वी. तृतीय है, वह अब्दुल कलाम जी के संरक्षण में ही बना था।

रोहिणी उपग्रह

इसी प्रकार सन 1980 में पृथ्वी की कक्षा के निकट रोहिणी उपग्रह को स्थापित करने का श्रेय भी डॉ अब्दुल कलाम जी को हासिल है।

इसके साथ ही डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी को सैंकड़ो कार्यो को स्थापित करने का श्रेय हासिल है जो उन्होंने ISRO संगठन में किये।

रोहिणी उपग्रह के अंतरिक्ष में पहुंचने से भारत भी International Space Club(अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष क्लब) में शामिल हो गया था।

लॉन्च वेहिकल प्रोग्राम (Launch Vehicle Program)

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी ने लॉन्च वेहिकल प्रोग्राम को परवान चढाने का भी काम किया था।

इसका श्रेय भी कलाम जी को हासिल है।

पोखरण परमाणु परीक्षण

डॉ अब्दुल कलाम जी के नेतृत्व में ही भारत का दूसरा सफल परमाणु परीक्षण पोखरण में हुआ था।

यह परीक्षण डॉ कलाम जी की देखरेख में 1998 में हुआ था।

मिसाइल डिजाइनिंग

डॉ अब्दुल कलाम जी का मिसाइल से खासा रिश्ता था वह इसीलिए मिसाइल मैन के नाम से जाने जाते थे।

डॉ कलाम जी नें कई स्वदेशी लक्ष्य भेदी मिसाइल को डिज़ाइन किया था। जो की गाइडेड मिसाइल्स(Guided Missile) थी यानी की नियंत्रित मिसाइल।

डॉ अब्दुल कलाम जी ने अग्नि और पृथ्वी मिसाइल बनाई थी उन्होंने इसकी डिजाइनिंग स्वदेशी तरीको से करी थी।

सचिव व सलाहकार

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी भारतीय सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार भी रहे।

डॉ कलाम जी जुलाई 1992 से लेकर दिसंबर 1999 तक सुरक्षा शोध के सचिव रहे उसके साथ ही वह रक्षा मंत्री के सलाहकार के रूप में भी कार्यरत रहे।

राष्ट्रपति के रूप में डॉ अब्दुल कलाम जी

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम ने राष्ट्रपति के पद को भी संभाला था।

अब्दुल कलाम जी को एन. डी. ए. के दलों, जिसमे भारतीय जनता पार्टी भी शामिल है, ने राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया था।

डॉ अब्दुल कलाम जी को “जनता का राष्ट्रपति” नाम से भी जाना जाता है।

अब्दुल कलाम जी के राष्ट्रपति बनने पर वामदलों के सिवा अन्य सभी दलों ने समर्थन दिया था। इस प्रकार सन 2002 में अब्दुल कलाम जी भारत के राष्ट्रपति चुने गए थे।

कलाम जी को 90% प्रतिशत बहुमत मिली थी।

  • 18 जुलाई 2002 को ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी भारत के राष्ट्रपति चुने गए थे।
  • 25 जुलाई 2002 में कलाम जी ने राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी।
  • 25 जुलाई 2007 को अब्दुल कलाम जी का राष्ट्रपति पद में कार्यकाल समाप्त हुआ था।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का निधन

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी का निधन 27 जुलाई 2015 की शाम को हुआ था।

डॉ कलाम जी शिलॉन्ग में अक्सर लेक्टर्स देने जाया करते थे। 27 जुलाई को भी वह शिलॉन्ग में थे जब उनका निधन हुआ।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी 27 जुलाई 2015 की शाम को शिलॉन्ग के भारतीय प्रबंधन संस्थान में ‘रहने योग्य गृह’ नामक लेक्चर देख रहे थे।

उसी दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा यानी cardiac arrest हुआ और वह बेहोश हो गए। इसके बाद उन्हें जल्दी से अस्पताल ले जाया गया मगर वहां करीब 7:45 पर उनकी मृत्यु की पुष्टि कर दी गई।

30 जुलाई 2015 को पूर्व राष्ट्रपति और हमारे मिसाइल मैन को पूरे सम्मान के साथ रामेश्वरम के पी करम्बू ग्राउंड में दफ़न किया गया।

उनकी मृत्यु पर देश भर में सप्ताह के लिए राजकीय शोक मनाया गया था।

डॉ कलाम जी का व्यक्तिगत जीवन

डॉ अब्दुल कलाम जी बहुत ही अनुशासन प्रिय व्यक्ति थे।

वह जीवनभर ही अविवाहित रहे। वह सादा जीवन उच्च विचार के व्यक्ति थे।

वह हमेशा शाकाहारी खाने का ही सेवन करते थे।

इसके साथ ही डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी भारतीय संस्कृति से बहुत ही प्रेम करते थे। यहाँ तक कि वह कुरान और गीता दोनों का ही अध्ययन करते थे।

वह छोटे से छोटे इंसान की हमेशा इज़्ज़त करते थे चाहे वो दफ्तर में काम करने वाला कोई मामूली व्यक्ति ही क्यों न हो।

डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी को मिले हुए सम्मान

डॉ कलाम जी को विशिष्ट पुरस्कारों और सम्मानों से नवाज़ा गया था जो की निम्न हैं :

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

सोर्स : hi.wikipedia.org

तस्वीरों में डॉ कलाम

Dr APJ Abdul Kalam Biography in Hindi में हम हमारे मिसाइल मैन की कुछ ख़ास तसवीरें देखते हैं :

सारांश : APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

आपने इस पोस्ट में Dr APJ Abdul Kalam Biography in Hindi को पढ़ा। हमने इसमें हर डिटेल को कवर करने का प्रयास किया है।

चलिए अब कलाम जी के जीवन के मुख्य भागों को संक्षिप्त में पढ़तें हैं :

  • डॉ अब्दुल कलाम जी शाकाहारी थे।
  • वह एक मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे थे।
  • उन्हें राष्ट्रपति के पद के लिए 90% बहुमत मिली थी।
  • डॉ कलाम जी ‘मिसाइल मैन’ और ‘जनता के राष्ट्रपति’ के नाम से भी जाने जाते हैं।
  • डॉ अब्दुल कलाम जी बहुत अनुशासनप्रिय व्यक्तित्व के थे।
  • मिसाइल मैन हमेशा अविवाहित ही रहे।
  • वह गीता और कुरान दोनों का अध्ययन करते थे।
  • उनका सपना भारत को 2020 में विकसित देश देखने का था।

अगर आपको यह पोस्ट APJ Abdul kalam Biography in Hindi पसंद आयी हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और यदि कोई त्रुटि है तो हमें क्षमा करें और कमेंट में बताएं हम जल्द से जल्द उसे ठीक करेंगे।

Stay Connected

172FansLike
0FollowersFollow
0FollowersFollow
2FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Must Read

15 मिनट के अंदर Jio SIM को ब्लॉक करें – How to Block Jio Sim Fast [2020]

How to Block Jio SIM की इस गाइड में हम आपको किसी Jio Sim को block अथवा बंद करने की प्रक्रिया की...

Jio SIM को activate कैसे करें -How to activate Jio SIM Step by Step [2020]

How to activate Jio SIM के इस गाइड में हम आपको किसी Jio SIM को activate करने की प्रक्रिया की Step by...

PHP Tutorial in Hindi Free – PHP सीखें आसान हिंदी में [2020]

इस PHP tutorial in Hindi में हम PHP scripting लैंग्वेज की पूरी जानकारी सीखेंगे। PHP क्या है? इसे...

JQuery Tutorial in Hindi Exclusive Guide – सीखें आसान भाषा में [2020]

इस आर्टिकल JQuery Tutorial in Hindi में हम आपको JQuery के बारे में सारी जानकारी देंगे। JQuery Tutorial...

Related News

15 मिनट के अंदर Jio SIM को ब्लॉक करें – How to Block Jio Sim Fast [2020]

How to Block Jio SIM की इस गाइड में हम आपको किसी Jio Sim को block अथवा बंद करने की प्रक्रिया की...

Jio SIM को activate कैसे करें -How to activate Jio SIM Step by Step [2020]

How to activate Jio SIM के इस गाइड में हम आपको किसी Jio SIM को activate करने की प्रक्रिया की Step by...

PHP Tutorial in Hindi Free – PHP सीखें आसान हिंदी में [2020]

इस PHP tutorial in Hindi में हम PHP scripting लैंग्वेज की पूरी जानकारी सीखेंगे। PHP क्या है? इसे...

JQuery Tutorial in Hindi Exclusive Guide – सीखें आसान भाषा में [2020]

इस आर्टिकल JQuery Tutorial in Hindi में हम आपको JQuery के बारे में सारी जानकारी देंगे। JQuery Tutorial...

योग दिवस के बारे में सारी जानकारी -International Yog Divas 2020

International Yog Divas/योग दिवस 2020 रविवार 21 जून को है। अंतराष्ट्रीय योग दिवस / International Yog divas 2014 से 21 जून को...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Your subscription could not be saved. Please try again.
Your subscription has been successful.

Theहिन्दीTV 

समाचार पत्रिका

 हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें और अपडेट रहें।

Stay connected